जिस तरीके से पूरी दुनिया डिजिटिलाइज हो रही तो भला डिजिटल दुनिया के दौर में भला शिक्षा कैसे पीछे रहे। इसकी को ध्यान में चांदीवली इलाके के कांग्रेस के विधायक मो. आरिफ नसीम खाने ने पहल करते हुए अपने इलाके के 60 स्कूलों को डिजिटल क्लासरूम मुहैया कराने का फैसला किया है जिसमे करीब 28 बीएमसी स्कुल भी शामिल हैं। ये सभी 60 स्कुल ऐसे हैं हैं जिनमे गरीब बच्चे पढ़ते हैं और किसी वजह से वो डिजिटल शिक्षा प्राप्त नहीं  कर पाते हैं। आपको बता दें कि ये डिजिटल क्लासरूम मराठी, हिंदी, उर्दू और इंग्लिश यानी सभी मीडियम के स्कूलों लगे हैं। नसीम खान के मुताबिक फ़िलहाल 14 स्कूलों में डिजिटल क्लासरूम बनकर तैयार हो चूका है जिसमे से 4 स्कूलों में डिजिटल क्लासरूम का उद्धघाटन आज अभिनेता आदित्य पंचोली द्वारा किया गया। आज जिन स्कूलों में  डिजिटल एजुकेशन का आगाज किया गया उनमे बीएमसी स्कुल (काजूपाड़ा) गुलशन-ए-मिल्लत हाई स्कुल (जरीमरी), योगीराज श्रीकृष्णा हाई स्कुल (90 फ़ीट रोड, साकीनाका), ईडेन हाई स्कुल, (90 फ़ीट रोड, साकीनाका) शामिल हैं.
Naseem Khan Digital Education (4)
मोहम्मद आरिफ नसीम ने कहा कि डिजिटल दुनिया के दौर में हर माँ बाप का सपना होता है कि मेरा भी बच्चा अमीरों के बच्चों की तरह बड़े स्कूलों में डिजिटल शिक्षा प्राप्त करे। लेकिन अब उन्हें मायूस होने की ज़रूरत नहीं है।इसलिए उन्होंने चांदीवली इलाके के 60 स्कूलों में डिजिटल क्लासरूम बनवाया है ताकि गरीब बच्चे भी बिलकुल मुफ्त में डिजिटल एजुकेशन हासिल कर सकें और अपने आपको दुनिया के साथ कदम से कदम मिलाकर खड़े हो सकें।
Naseem Khan Digital Education (3)
वहीँ छात्र ब्लैकबोर्ड से अब डिजिटल क्लासरूम में आकर बहुत खुश दिखे और वहीँ स्कुल के शिक्षकों के साथ साथ इन स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों के मातापिता अपने इलाके के विधायक मो. आरिफ नसीम खान का शुक्रिया अदा किया।
इस मौके पर अभिनेता आदित्य पंचोली नसीम खान के डिजिटल एजुकेशन के इस पहल की सराहना करते हुए कहा कि मैं बहुत नेताओं से मिला हूँ जो सिर्फ वादे करते हैं लेकिन आरिफ नसीम खान कहने में नहीं करने में विश्वास रखते हैं और इन्होने जो इन गरीब बच्चों के लिए शिक्षा में  योगदान दिया है वो काबिले तारीफ है। वहीँ उन्होंने बच्चों को शुभकामनाएं दते हुए उनसे कहा कि अब आप भी डिजिटल एजुकेशन लें और कामयाबी हासिल करें।