मुंबई, सोमवार सुबह करीब 7 बजे से मुंबई के छत्रपति शिवाजी टर्मिनस और माटुंगा रेलवे स्टेशन के बीच प्रदर्शन कर रहे छात्रों को पटरियों पर से हटाकर ट्रेनों का आवागमन शुरू कर दिया गया है। आपको बता दें कि ये छात्र रेलवे में नौकरी की मांग कर रहे हैं। रेलवे पटरियों पर छात्रों के बैठने से ट्रेनों का आवागमन लगभग 4 घंटे तक बाधित रहा, जिससे आम-जनजीवन पर भी काफी असर पड़ा और लोग समय पर अपने ऑफिस या गंतव्य स्थान पर नहीं पहुँच सके।

जानें, मुंबई ‘रेल रोको’ के पल-पल के अपडेट्स… 

बताया जा रहा है कि सैकड़ों की संख्या में ये छात्र रेलवे की सरकारी नौकरी के लिए आंदोलन कर रहे हैं। छात्रों को रेल पटरियों से हटाने के लिए पुलिस मौके पर पहुंची। ऑफिस टाइम होने और सीएसटी-माटुंगा की लाइन पर ज्यादा ट्रैफिक होने से लोगों को भी परेशानी हुई। लोकल ट्रेनों के अलावा लंबी दूरी के ट्रेनें भी प्रदर्शन के चलते लेट हुईं और उनके टाइम टेबल में बदलाव किया गया।

सुबह 7:45 बजे

पुलिस मौके पर पहुंचकर छात्रों को जल्दी ही मनाकर वहां से हटाने में जुटी हुई है। बता दें कि इन छात्रों की मांग है कि इन्हें रेलवे में सरकारी नौकरी दी जाए।

Rail Roko 1

सुबह 8:00 बजे

बताया जा रहा है कि ये अप्रेंटिस स्टूडेंट सालों तक काम कर चुके हैं लेकिन इन्हें नौकरी नहीं मिल पा रही है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, छात्रों को कंट्रोल में लाने के मुंबई पुलिस ने लाठीचार्ज किया तो छात्रों ने इसके जवाब में ट्रेनों पर पर पत्थर फेंके।

सुबह 8: 30 बजे: क्या है मांग 
विरोध प्रदर्शन कर रहे छात्र में रेलवे में अप्रेंटिस की परीक्षा देने वाले हैं। परीक्षा के लिए फॉर्म भरे जाने की आखिरी तारीख 31 मार्च है। ये छात्र परीक्षा में 20 पर्सेंट अपर लिमिट को हटाने की मांग कर रहे हैं। इनकी मांग है कि इसमें सिर्फ उन्हीं छात्रों की भर्ती हो जो टेस्ट पास करें।
सुबह 9 बजे: यात्रियों को रेलवे की सलाह
सेंट्रल रेलवे ने हेल्पलाइन नंबर- 23061763 जारी किया है, साथ ही साथ रेलवे ने यात्रियों को सलाह दी है कि वह वेस्टर्न लाइन या हार्बर लाइन का प्रयोग करें। बताया जा रहा है कि सीएसटी और खोपोली के बीच ट्रेन संचालन पूरी तरह से ठप हो गया है। ट्रेनें सिर्फ कुर्ला तक ही जा रही हैं।
सुबह 9: 30 बजे: बेस्ट उतारेगी और बसें 
ट्रेनों के संचालन में आ रही बाधा को देखते हुए बेस्ट ने निर्णय लिया है कि वह माटुंगा और अन्य स्टेशनों के बाहर और बसें लगाएगी, जिससे यात्रियों को दफ्तर पहुंचने में दिक्कत ना हो।
सुबह 9: 40 बजे 
एमएनएस नेता संदीप देशपांडे भी माटुंगा और दादर के बीच प्रदर्शन कर रहे छात्रों की बीच पहुंचे और उनका समर्थन किया।
सुबह 9: 50 बजे
कांग्रेस नेता संजय निरुपम भी बच्चों के बीच पहुंचे। उन्होंने रेलवे अधिकारियों से अपील की कि छात्रों से संवाद करके जल्द ही ‘रेल रोको प्रदर्शन’ को समाप्त कराएं।
सुबह 10:00 बजे: 30 ट्रेनें कैंसल
दादर-कुर्ला रेलवे स्टेशन के बीच ट्रैक पर जारी प्रदर्शन से सेंट्रल लाइन की 30 ट्रेनें कैंसल की गई हैं।
सुबह 10:05 बजे
उत्तर-पूर्वी मुंबई से सांसद किरीट सोमैया ने ट्वीट कर बताया, ‘मुंबई रेलवे अप्रेंटिस आंदोलन के बारे में पीयूष गोयल जी से बात हुई है। उन्होंने आंदोलन कर्ताओं से बातचीत का भरोसा दिलाया है। सभी को न्याय मिलेगा, मैं आंदोलनकर्ताओं से अनुरोध करता हूं कि रेल रोको को वापस लें और चर्चा के लिए सामने आएं।’
सुबह 10:10 बजे 
वेस्टर्न लाइन पर कोई दिक्कत नहीं है। वेस्टर्न रेलवे ने ट्वीट कर जानकारी दी कि वेस्टर्न मुंबई लोकल पर कोई भी दिक्कत नहीं है और ट्रेनें सामान्य रूप से चल रही हैं।
सुबह 10:15 बजे 
रेलमंत्री पीयूष गोयल मामले पर 11:45 बजे रेलभवन दिल्ली में मीडिया को संबोधित करेंगे।
सुबह 10: 20 बजे
सेंट्रल लाइन पर ट्रेनें ना चल पाने की वजह से डब्बावाले भी फंसे, ट्रेन के चक्कर में खाना पहुंचाने में देरी।
सुबह 10:25 बजे 
माटुंगा स्टेशन पर ट्रेनें रोके जाने की वजह से यात्री पैदल ही ट्रैक पर चलकर आगे बढ़ रहे हैं। रेलवे के मुताबिक, माटुंगा में रेल ट्रैक पर 3000 से ज्यादा लोगे मौजूद।
10: 40 बजे: रेल सेवा शुरू
इस बीच रेल सेवा शुरू हो गई है लेकिन प्रदर्शनकारी छात्र रेलवे ट्रैक पर ही मौजूद हैं।
सुबह 10: 50 बजे: सेंट्रल रेलवे ने जारी किया बयान
सेंट्रल रेलवे ने बयान जारी कर रहा है, ‘अप्रेंटिस ऐक्ट के तहत इन लोगों को नौकरी दिए जाने का कोई प्रावधान नहीं है। इन्हें सिर्फ एक निश्चित समय के लिए ट्रेनिंग दी जाती है, जिससे ये चीजें सीख सकें और इस क्षेत्र में काम करने का अनुभव हासिल कर सकें। जबकि, रेल मंत्रालय ने निर्णय लिया है कि 20 पर्सेंट सीटें डायरेक्ट भर्ती से भरी जाएंगी।’ इसके अलावा सेंट्रल रेलवे ने कहा, ‘आवेदन की अंतिम तारीख से पहले ही नोटिफिकेशन जारी कर दिया गया है और सूचित कर दिया गया है कि रेलवे वर्कशॉप में काम कर चुके छात्रों का स्पेशल टेस्ट जल्द ही कराया जाएगा।’
सुबह 10: 55 बजे
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, छात्रों को पटरियों से हटाकर ट्रेनों का आवागमन सुनिश्चित किया जा रहा है।
सुबह 11:20 बजे: सीएम देवेंद्र फडणवीस का बयान 
सीएम फडणवीस ने विधानसभा में कहा, ‘शुरू से अधिकारियों के संपर्क में था। नियमों में कोई बदलाव नहीं हुआ है। अप्रेंटिस प्रशिक्षितों के लिए 20 पर्सेंट सीटें आरक्षित हैं लेकिन वे और सीटों की मांग कर रहे थे। जब ट्रेनों पर पत्थरबाजी करने लगे तो पुलिस ने लाठीचार्ज किया। कोई भी घायल नहीं है।’
सुबह 11:38 बजे: रेलमंत्री पीयूष गोयल का बयान
पीयूष गोयल ने कहा, ‘रेलवे इस समय भर्तियां करने पर ध्यान दे रही है। निष्पक्ष, पारदर्शी और प्रतियोगी भर्तियां करने के लिए रेलवे ने सुप्रीम कोर्ट के गाइडलाइन्स के मुताबिक पॉलिसी तैयार की है। अप्रेंटिस कर चुके छात्रों को उम्र में भी छूट दी जा रही है। यह देश में एक बार में हुई सबसे बड़ी भर्ती होने वाली है। इसमें हर तरह के युवाओं को रेलवे जॉइन करने का मौका है।’
उन्होंने यह भी कहा, ‘मैं सभी युवा दोस्तों से अपील करता हूं कि 31 मार्च से पहले-पहले जमकर आवेदन करें और भर्ती प्रक्रिया का हिस्सा बनें, जिससे सबको एक समान मौका मिले और सब मिलकर देश की सेवा करें।’