मुंबई, अब मिलावटी दूध बेचने वालों की खर नहीं, राज्य में मिलावटी दूध की बिक्री को नियंत्रित करने के लिए सरकार दूध में मिलावट करने वालों की सजा बढ़ाकर उम्रकैद करना चाहती है। राज्य के खाद्य और नागरिक आपूर्ति मंत्री गिरीश बापट ने विधानसभा में कहा कि इसके लिए कानून मंत्रालय से राय मांगी गई है।

मिलावटी दूध का मुद्दा विधानसभा में बीजेपी विधायक अतुल भातखलकर ने ध्यानाकर्षण प्रस्ताव के तहत उठाया। चर्चा में विधायक अमित साटम ने मांग की कि ओडिशा, पश्चिम बंगाल और उत्तर प्रदेश में दूध में मिलावट करने वालों को उम्रकैद की सजा जैसा कानून महाराष्ट्र में भी बनना चाहिए। इसका जवाब देते हुए मंत्री गिरीश बापट ने कहा, ‘कानून में संशोधन कर सख्त सजा का प्रस्ताव कानून मंत्रालय को भेजा जा चुका है।

आपको बता दें कि दूध में कई तरह के घातक केमिकल और यूरिया मिलाए जाने की शिकायतें आती रही हैं। और ये काम मिलावटखोर त्योहारों के मौसम में ज़्यादा करते हैं ताकि ज़्यादा से ज़्यादा मुनाफा कमा सकें। दूध के नमूनों में कई बार यह शिकायतें सच पाई गई हैं। ऐसे में दूध में मिलावट करने वालों पर नकेल कसने के लिए सख्त कानून बनाए जाने पर विचार किया जा रहा है।