मुंबई के आजाद मैदान में डटे किसानों के प्रतिनिधि अपनी मांगों को लेकर आज दोपहर मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस से मुलाकात की। सूत्रों की माने तो दोनों के बीच इस मुलाकात में समझौते का रास्ता निकल चुका है। महाराष्ट्र सरकार किसानों को ये लिखित आश्वासन देने को तैयार है कि उनकी सारी मांगों पर अगले दो महीने में विचार किया जाएगा। गौरतलब हो कि मुंबई के आजाद मैदान में डटे ये किसान अपने सारे कर्जों की माफी, बकाया बिजली बिल में राहत और स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशें तत्काल लागू किए जाने की मांग कर रहे हैं।

कर्जमाफी और फसलों के उचित मूल्य सहित अपनी विभिन्न मांगों को लेकर ये किसान आज महाराष्ट्र विधानसभा घेरने की तैयारी में थे, हालांकि अब ऐसी खबर है कि किसान जल्द ही अपना विरोध प्रदर्शन खत्म कर सकते हैं।

बता दें कि लेफ्ट से जुड़े ऑल इंडिया किसान सभा (एआईकेएस) की अगुवाई में करीब 30 हजार किसानों का जत्था नासिक से छह दिनों तक पैदल चल कर रविवार को 180 किलोमीटर दूर मुंबई पहुंचा था। प्रदर्शन कर रहे किसानों को कांग्रेस, शिवसेना और महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना का समर्थन मिला है। आरएसएस ने भी राज्य सरकार से इस मुद्दे के समाधान की मांग की है।