मुंबई में बनेगा दुनिया का सबसे लंबा रोप-वे। इसके साथ ही, ऐतिहासिक गुफाओं वाले एलिफेंटा द्वीप के लिए मुंबई के गेट-वे ऑफ इंडिया से नौका का उपयोग करने के दिन खत्म हो सकते हैं। महाराष्ट्र पर्यटन विकास निगम (एमटीडीसी) और मुंबई पोर्ट ट्रस्ट (एमबीपीटी) ने शिवडी से एलिफेंटा द्वीप तक रोप-वे बनाने का निर्णय किया है। जानकारी के मुताबिक अगले महीने इसके निर्माण कार्य का ठेका दे दिया जाएगा और नवंबर से काम शुरू कर दिया जाएगा।

600 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाला यह रोप-वे 2020 तक यह तैयार हो जाएगा। यह रोप-वे बिल्ट, ऑपरेट और ट्रांसफर की तर्ज पर बनाया जाएगा। 8.3 किलोमीटर लंबा रोपवे जमीन से 150 मीटर ऊपर होगा। इसका एक छोर शिवडी पर होगा, तो दूसरा छोर एलिफेंटा के पास उतरेगा। आपको बता दें कि अभी दुनिया का सबसे लंबा रोप-वे पीक 2 पीक गोंडोला है।

जियोलॉजिकल सर्वे 20 से 

एमबीपीटी इस काम के लिए 20 मार्च से जियोलॉजिकल सर्वे शुरू करेगा। यह रोप-वे समुद्र के ऊपर होगा। इसके लिए वन विभाग की मंजूरी मिलनी बाकी है। एमबीपीटी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि जून तक वन विभाग की मंजूरी मिल जाएगी। निर्माण कार्य का ठेका देने के लिए क्रिजिल द्वारा निविदा प्रक्रिया पर काम किया जा रहा है। मार्च में ठेका देने के लिए निविदाएं मंगाई जाएंगी। अप्रैल के अंत तक या फिर मई के पहले सप्ताह में निर्माण कार्य का ठेका दे दिया जाएगा।

रोप-वे निर्माण कार्य के बारे में मुंबई पोर्ट ट्रस्ट के अध्यक्ष संजय भाटिया ने बताया, ‘रोप-वे के निर्माण कार्य का ठेका देने के लिए एमबीपीटी की सहायता ‘क्रिजिल’ कर रहा है। वन विभाग मंजूरी के लिए आवेदन किया जा चुका है। सब सही रहा, तो जून तक वन विभाग की हरी झंडी मिल जाएगी।’