काफी खींचातान के बाद आखिरकार दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को बुलढाणा पुलिस ने रैली करने की मंजूरी दे दी है। गौरतलब हो कि पिछले सप्ताह पुलिस ने भीड़ को नियंत्रित करने में मुश्किल का हवाला देते हुए रैली की मंजूरी देने से इनकार कर दिया था। आपको बता दें कि केजरीवाल 12 जनवरी को राजमाता जिजाऊ जयंती के मौके पर बुलढाणा जिले के सिंदखेड राजा में रैली निकाल कर महाराष्ट्र में आम आदमी पार्टी के राजनीतिक अभियान की शुरुआत करने वाले हैं।

कमला मिल अग्निकांड: नागपुर कनेक्शन की वजह से दोषियों को बचा रही है सरकार- निरुपम

आम आदमी पार्टी (आप) की प्रवक्ता प्रीति शर्मा मेनन ने बताया कि केजरीवाल 11 जनवरी की शाम को औरंगाबाद पहुंचेंगे और अगले दिन जीजामाता पैलेस जाएंगे जहां वह उनका आशीर्वाद लेंगे और बाद में एक रैली को संबोधित करेंगे। रैली के लिए मंजूरी मिलने में देरी पर नाखुशी जताते हुए मेनन ने कहा कि हमने दिसंबर के मध्य में रैली के लिए आवेदन किया था लेकिन हमारा आवेदन खारिज कर दिया गया। फिर हमने महानिदेशक (कानून एवं व्यवस्था) से बात की। यहां तक कि मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस से भी मिलना पड़ा। फिर भी लिखित में मंजूरी मिलने में तीन दिन लगे।

शत्रुघ्न सिन्हा पर बीएमसी का शिकंजा, ढहाया बंगले का अवैध हिस्सा

छत्रपति शिवाजी महाराज की मां जिजाबाई की (जिन्हें जिजाऊ भी कहा जाता है)  जयंती के मौके पर हर साल सिंदखेड राजा में एक समारोह का आयोजन किया जाता है। लाखों लोग जिजाऊ के दर्शन करने के लिए यहां आते हैं। बुलढाणा पुलिस के मुताबिक इस साल सिंदखेड राजा में चार से पांच लाख लोगों के आने की उम्मीद है। उम्मीद है कि भीड़ से निपटने में पुलिस को कड़ी मेहनत करनी पड़ेगी।