(पीटीआई) संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावती को लेकर विरोध की आवाज़ें रुकने का नाम नहीं ले रही हैं। शूटिंग के दौरान से ही पद्मावती फिल्म का विरोध करने वाले संगठन करणी सेना ने पहले दीपिका की नाक काटने की धमकी दी। फिर विरोधियों ने भंसाली और दीपिका का सिर काटने वाले को 5 करोड़ रुपये इनाम देने की घोषणा कर दी। अब इस बवाल का असर चित्तौड़गढ़ के किले पर पड़ा है और प्रदर्शनकारियों ने चित्तौड़गढ़ किले के गेट को बंद कर दिया है। जिसके बाद किला घूमने आए हर सैलानी को किले के गेट से ही लौटा दिया जा रहा है। विरोध प्रदर्शन को देखते हुए चित्तौड़गढ़ में बंद का ऐलान कर दिया गया है। वहीँ दीपिका पादुकोण को धमकी मिलने के बाद उनके घर की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। Padmavati Protestगौरतलब हो कि एक दिसंबर को रिलीज होने जा रही है भंसाली की फिल्म पद्मावती पर ऐतिहासिक तथ्यों से छेड़छाड़ का आरोप लगाया जा रहा है। इस फिल्म में दीपिका पादुकोण मिथकीय पात्र मानी जाने वाली रानी पद्मावती का किरदार निभा रही हैं। लेकिन इस फिल्म ने राजनीति रंग ले लिया है। करणी सेना ने दीपिका को सीधे चुनौती देते हुए कहा है कि उन्हें भड़काने की बुरी कीमत चुकानी पड़ेगी। बीजेपी भी पद्मावती फिल्म के विरोधियों के साथ खड़ी हो गई है। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा है कि फिल्म में ऐतिहासिक तथ्यों के साथ छेड़छाड़ नहीं होनी चाहिए और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का अधिकार सर्वोच्च नहीं है।

वहीँ चित्तौड़गढ़ में प्रदर्शन कर रही सर्व समाज प्रॉटेस्ट कमिटी का दावा है कि आजादी के बाद से ऐसा पहली बार हुआ है कि किले में प्रवेश प्रतिबंधित कर दिया गया है। मौके पर किसी भी अनचाही स्थिति से निपटने के लिए भारी संख्या में पुलिसबल की तैनाती कर दी गई है। प्रदर्शनकारियों ने कहा है कि अगर उनकी मांगें नहीं मानी गईं तो प्रदर्शन को उग्र कर दिया जाएगा।

दीपिका और उनके घर की सुरक्षा बढ़ाई गई
प्रदर्शनकारियों की मांग है कि चित्तौड़गढ़ की रानी पद्मावती के जीवन पर बनी इस फिल्म रिलीज नहीं किया जाए। फिल्म में दीपिका के अलावा रणवीर सिंह और शाहिद कपूर हैं। रणवीर अलाउद्दीन खिलजी का किरदार निभा रहे हैं जबकि शाहिद राजा रावल रतन सिंह बने हुए हैं। करणी सेना की तरफ से दीपिका को मिली धमकी के बाद ऐक्ट्रेस की सुरक्षा बढ़ा दी गई है।