(आईएएनएस) भारतीय टीम के गेंदबाजी कोच को लेकर चल रही कशमकश आखिरकार मंगलवार को खत्म हो गई। टीम इंडिया के मुख्य कोच चुने गए रवि शास्त्री के पसंदीदा भरत अरुण को आधिकारिक तौर पर गेंदबाजी कोच बना दिया गया है। जिसकी जानकारी बीसीसीआई के कार्यवाहक सचिव अमिताभ चौधरी दी।

वहीँ जहीर खान और राहुल द्रविड़ भी टीम इंडिया से जुड़े रहेंगे। संजय बांगड़ असिस्‍टेंट कोच और आर श्रीधर टीम के फील्डिंग कोच होंगे। आपको बता दें कि सभी नियुक्तियां दो साल के लिए की गई हैं। गौरतलब हो कि इससे पहले सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली और वीवीएस लक्ष्मण की तीन सदस्यीय क्रिकेट सलाहकार समिति ने 11 जुलाई को पूर्व गेंदबाज जहीर खान को टीम के गेंदबाजी सलाहकार और राहुल द्रविड़ को विदेशी दौरों (टेस्ट) के लिए बल्लेबाजी सलाहकार नियुक्त करने की सिफारिश की थी। इसी दिन रवि शास्‍त्री को मुख्‍य कोच बनाया गया था।

शास्त्री की दलील थी कि वह जहीर और द्रविड़ का सम्मान करते हैं और हमेशा ही उन्हें सलाहकार के तौर पर देखना चाहेंगे। लेकिन मौजूदा परिस्थिति में भारतीय टीम को 150 दिनों के लिए नहीं बल्कि 365 दिनों के लिए गेंदबाजी कोच की जरूरत है।

ये भी पढ़ें : चेन्नई सुपरकिंग्स की होगी वापसी, फिर धोनी कर सकते हैं कप्तानी

शास्त्री के चयन के अलावा अन्य किसी के चयन को लेकर स्थिति साफ नहीं थी लिहाजा शास्त्री ने आते ही अपने पसंदीदा अरुण को गेंदबाजी कोच बनाने की वकालत की और इसके लिए सर्वोच्च न्यायालय द्वारा गठित प्रशासकों की समिति को मना भी लिया।