मुंबई, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस ने कर्जमाफी को लेकर महाराष्ट्र के उन किसानो को भी बड़ी राहत दी है जिन्होंने ने साल 2008 के बाद कर लिया है।  फडणवीस ने कहा कि प्रदेश सरकार ने अपने कर्जमाफी के दायरे का विस्तार किया है जिसमें वर्ष 2008 के बाद कर्ज वाले किसानों को भी शामिल किया गया है। इससे पहले ‘छत्रपति शिवाजी महाराज सम्मान योजना ‘ नामक इस कर्जमाफी योजना के दायरे में केवल उन किसानों को शामिल किया गया था जिन्होंने अप्रैल 2012 और 30 जून 2016 के बीच क़र्ज़ बाकी था।

ये भी पढ़ें ; जेल में बंद पूर्व उप मुख्यमंत्री छगन भुजबल और उनके परिवार की 300 करोड़ की संपत्ति कुर्क

गौरतलब हो कि इससे पहले पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार ने 2008 में कृषि कर्जमाफी और कर्ज राहत योजना की घोषणा की थी जिसमें किसानों के 71,000 करोड़ रुपये के कर्ज माफ किए गए। मुख्यमंत्री कार्यालय द्वारा जारी वक्तव्य के अनुसार किसानों द्वारा 2016-17 में लिए गए कर्ज की वापसी की तिथि को 30 जून 2017 से आगे बढ़ाकर 31 जुलाई कर दी गई। यह सुविध नियमित रूप से कर्ज का भुगतान करने वाले किसानों को दी गई है।

बुधवार को फडणवीस ने ये ऐलान अपने पाक्षिक कार्यक्रम ‘मी मुख्यमंत्री बोलतोय’ के दौरान किया। बीजेपी विधायक अनिल बोंडे, आशीष देशमुख, संजय कुटे और प्रशांत बाम्ब ने बुधवार को मुख्यमंत्री से मुलाकात की और मांग की कि एक मार्च 2008 और 31 मई 2012 के पहले कृषि ऋण लेने वाले किसानों को पिछले माह घोषित कर्जमाफी योजना का लाभ दिया जाए।