मुंबई में एक अजीबोगरीब मामले में कैब के परमिट पर लिमोजीन के रूप में मॉडिफाइ की गई क्राइसलर कार चलाने वाले को पकड़ा गया है। अंधेरी RTO ने गोरेगांव के एक होटल से लिमोजीन कार को बरामद किया है। अंधेरी RTO स्पेशल फ्लाइंग स्क्वॉड के इंस्पेक्टर आनंदराम वागले ने बताया कि ‘गाड़ी चला रहे व्यक्ति के पास से बरामद डॉक्युमेंट्स में विसंगतियां मिली हैं। चेसिस के मुताबिक गाड़ी 2007 की बनी है पर दिल्ली RTO के डॉक्युमेंट में 2012 दर्ज है।

ये भी पढ़ें : जेल में भी छगन भुजबल को सता रही है किसानो की चिंता

इंस्पेक्टर वागले ने कहा कि डॉक्युमेंट्स की जांच की जा रही है और गाड़ी को जब्त कर लिया गया है। अंधेरी के RTO के मुताबिक गाड़ी को 10 सीटर के नाम पर रजिस्टर कराया गया था जबकि परमिट मैक्सीकैब के नाम पर है। सूत्रों के मुताबिक इस गाड़ी को दिल्ली से एक इवेंट के लिए किराये पर लाया गया था। इवेंट के बाद RTO ने गाड़ी को अपने कब्जे में ले लिया। इंस्पेक्टर वागले ने बताया कि इस बात की भी जांच कराई जाएगी कि यह मॉडिफिकेशन क्या वीइकल टेस्टिंग एजेंसी से अप्रूव था या नहीं।