मुंबई, 100 से ज़्यादा एनकाउंटर करने वाले एनकाउंटर स्पेशलिस्ट प्रदीप शर्मा को एक बार पुलिस फोर्स में बहाल किया गया है । आपको बता दें कि प्रदीप शर्मा को करीब 4 साल पहले लखन भइया फर्जी एनकाउंटर केस में सेशन कोर्ट ने बरी कर दिया था। हालाकि इस केस में कई अन्य पुलिस कर्मियों को कोर्ट ने सजा सुनाई थी। उन्हें इस केस से पहले सीआरपीसी के सेक्शन 311 के तहत पुलिस फोर्स से बर्खास्त भी किया गया था लेकिन वह यह केस भी मैट कोर्ट से जीत गए थे।

ये भीं पढ़ें : मराठी फिल्मकार तपकीर ने की खुदकुशी, फेसबुक पर लिखा सूइसाइड नोट

ये भीं पढ़ें : युवती की को टुकड़े-टुकड़े कर फेंकने वाले पति समेत चार गिरफ्तार

प्रदीप शर्मा 1983 के उस चर्चित पुलिस बैच के हैं जिस बैच से विजय सालसकर, प्रफुल्ल भोंसले जैसे अधिकारी भी निकले हैं। इस तिकड़ी से एक समय अंडरवर्ल्ड सबसे ज्यादा खौफ खाता था। करीब 2 दशक पहले जब वर्तमान पुलिस कमिश्नर दत्तात्रेय पडसलगीकर मुंबई में डीसीपी थे तब प्रदीप शर्मा ने उनके नेतृत्व में चर्चित जे जे शूटआउट के कई आरोपियों को पकड़ा था और उस शूटआउट में दाऊद का सबसे खतरनाक शूटर फिरोज कोंकणी अस्पताल से भाग गया था। लेकिन कोंकणी का बाद में छोटा शकील ने कराची में मर्डर करवा दिया था। ऐसा कहा जाता है कि कोंकणी ने शकील की बर्थडे पर केक को लात मार दी थी जिससे शकील बौखला गया था।