मुंबई, पुलिस ने एक ऐसे धुआं गिरोह का खुलासा किया है जो सुनसान रास्ते पर कार चालकों को अचानक रोकते और उनसे कहते थे कि उनकी गाड़ी से चक्के में स्पार्किंग के कारण धुआं निकल रहा है। जिसके बाद कार चालक को बेवकूफ बनाकर कार में रखा सामान बड़ी चालाकी से लूट लिया करते थे। कुर्ला पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक़ गिरफ्त में धुंआ गैंग के लोगों ने बताया कि वे लोग वारदात को अंजाम देने के लिए कम भीड़-भाड़ वाले रास्ते से गुजरने वाले गाड़ियों को अपना शिकार बनाते थे। इसके लिए गिरोह में शामिल एक शख्स किसी गाडी को आते देखकर अचानक उसके पास जाता और हाथ दिखाकर उसकी गाड़ी रुकवाता। जैसे ही ड्राइवर गाड़ी रोकता, उसे गाड़ी से धुआं निकलने की बात कहकर गाड़ी से उतरने को मजबूर कर दिया जाता था। ड्राइवर धुआं गैंग के सदस्यों की बातों में आकर जैसे ही गाड़ी से नीचे उतरता, अचानक उसी गैंग का एक दूसरा सदस्य मौके पर पहुंच कर ड्राइवर को गाड़ी के चक्कों में स्पार्किंग होने और फिर धुआं निकलने की बात कहकर पूरी तरह से उलझाए रखता था। इस दौरान, गिरोह का तीसरा सदस्य गाड़ी के अंदर रखे मोबाइल या इलेक्ट्रॉनिक सामानों पर हाथ साफ कर वहां से चंपत हो जाता था।

ये भी पढ़ें : मुंबई में ठकठक गैंग का आतंक। धारावाहिक चिड़ियाघर के अभिनेता के साथ की सरेआम लूटपात।

मकैनिक होने का दावा
पुलिस के मुताबिक धुआं गैंग के बदमाश खुद को मकैनिक होने का दावा कर पीड़ित ड्राइवर को गाड़ी का चक्का देखने या धुआं निकलने की वजह को जांचने की बात कहकर उसे उलझाए रखते थे। जैसे ही तीसरा साथी लूट के मकसद में कामयाब हो जाता और बाकी दोनों को ग्रीन सिग्नल मिल जाता, सभी धीरे-धीरे वहां से खिसक जाते थे। पुलिस की गिरफ्त में आएं इस धुआं गैंग के बदमाशों के नाम अब्दुल लतीफ गौस मोईद्दीन सय्यद (43), मोहमद जाहिद उर्फ जुईब नूर मोहमद शेख (26) और रेहमान अजमतली शेख (35) हैं। कुर्ला पुलिस ने इनके खिलाफ IPC की धारा 420, 34 और 511 के तहत मामला दर्ज कर सभी को गोवंडी के शिवाजी नगर इलाके से गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने तीनों आरोपियों को कुर्ला कोर्ट में पेश किया, जहां से उन्हें पुलिस रिमांड में भेज दिया गया है। फिलहाल पुलिस इस गैंग से जुड़ और लोगों की तलाश कर रही है।